Blogging in Hindi – पूरी जानकारी हिंदी में

Contents

Writing, photography और अन्य मीडिया को ऑनलाइन पब्लिश करना Blogging को refer करता हैं। हालंकि यह अब एक बिज़नस का रूप ले लिया है। कई ऐसे ब्लॉगर है जो अपने ब्लॉग द्वारा महीनों लाखों कमा रहे है।

अगर आप भी ब्लॉग्गिंग शुरू करना चाहते है और Blogging करके पैसे कमाना चाहते है तो आप बिल्कुल सही जगह पर है।

आज इस आर्टिकल में मैं आपको Blogging के बारे में पूरी जानकारी हिंदी में देने वाला हूँ।

तो चलिए शुरू करते है…

Blogging करने के लिए क्या-क्या चाहिए?


ब्लॉग्गिंग शुरू करने के लिए आपके पास एक ब्लॉग होना चहिये। और ब्लॉग बनाने के लिए आपको निम्नलिखित दो चीजों की आवश्यकता होगी:

  1. Domain name – यह आपकी ब्लॉग का नाम है, विजिटर आपकी ब्लॉग पर आने के लिए अपने ब्राउज़रों में आपके domain का नाम लिखेंगे (InHindiHelp.com की तरह)।
  2. Web Hosting – इंटरनेट पर सभी ब्लॉग और वेबसाइट को होस्ट करने की आवश्यकता होती है जिसके लिए एक Hosting की जरूरत पडती है। यहाँ आपकी सभी files store होती है।

होस्टिंग के लिए मैं आपको Bluehost की सलाह दूंगा। यह दुनिया की सबसे बड़ी होस्टिंग कंपनियों में से एक है। इस होस्टिंग की सबसे अच्छी बात अगर आप इससे अपने ब्लॉग के लिए होस्टिंग खरीदते है, तो आपको एक Free Domain Name (1 साल के लिए) मिलेगा।

Blogging के लिए Best Platform कौन सा है?


मार्केट में Blogging करने के लिए बहुत सारे प्लेटफार्म मौजूद है लेकिन ब्लॉग बनाने के लिए मैं आपको WordPress.org उपयोग करने की सलाह दूंगा।

WordPress.org एक बहुत ही पोपुलर CMS (Content Management System) है और 32% से अधिक वेबसाइटें वर्डप्रेस पर बनाई गयी हैं। आप इसे किसी भी तरह की ऑनलाइन बिज़नस (ब्लॉग से लेकर e-commerce साइट) बनाने के लिए उपयोग कर सकते हैं ।

WordPress.org उपयोग करने के लाभ:

  • ब्लॉग बनाते समय आपको कोडिंग ज्ञान की आवश्यकता नहीं पडती है। बस वर्डप्रेस सॉफ्टवेयर पर क्लिक करें फिर अपने ब्लॉग जानकारी दर्ज करें और इंस्टॉल बटन पर क्लिक करें। आपका ब्लॉग Ready है।
  • आपका अपने ब्लॉग पर Full Control रहता हैं।
  • जब आपका ब्लॉग Grow करता है तो आप बाद में और अधिक Features जोड़ सकते हैं।
  • हजारों free और premium themes उपलब्ध हैं जो आपके ब्लॉग को सुंदर और professional बनाती हैं।
  • WordPress.org में 45,000 से अधिक free plugins उपलब्ध हैं जो आपकी ब्लॉग पर extra features को जोड़ने में मदद करते हैं।
  • अगर आपके ब्लॉग में कोई Error होती है, तो आप प्लगइन की मदद से आसानी से ठीक कर सकते हैं। इसके अलावा, इंटरनेट पर बहुत सारे ट्यूटोरियल उपलब्ध हैं।

WordPress.org उपयोग करने के हानि:

  • यह अधिक पोपुलर होने के कारण हैकर इसे अधिक टार्गेट करते है। अतः आपको Security पर ध्यान देना होगा।

WordPress पर Blogging शुरू करने में कितना खर्च लगता है?


WordPress एक Open source software है और पूरी तरह से फ्री है। लेकिन आपको एक डोमेन नाम ($7.99/month) और होस्टिंग (आमतौर पर $2.75 per month से शुरू) की आवश्यकता होगी।

मैं आपको को छोटे amount से शुरू करने की सलाह दूंगा। जब आपकी ब्लॉग पोपुलर होने लगेगी है, तो आप इसमें और भी features add कर सकते है। इस तरह आप शुरुआत में कम खर्च के साथ अपनी ब्लॉग शुरू कर सकते है।

WordPress पर Blog कैसे बनाये


आशा करता हूँ कि अपने अपने ब्लॉग के लिये Domain Name और Hosting खरीद लिया है। अगर नहीं तो यहाँ एक Detailed गाइड है – WordPress Par Blog Kaise Banaye

सबसे पहले अपने होस्टिंग अकाउंट में लॉग इन करें फिर टॉप पर स्तिथ “Manage Orders >> List / Search Orders” बटन पर क्लिक करें।

नोट: यहाँ मैं Bluehost का उपयोग कर रहा हूँ।

WordPress Par Website Kaise Banaye in Hindi Complete Guide

फिर Domain  name पर क्लिक करें।

WordPress Par Website Kaise Banaye in Hindi Complete Guide

अगली पेज में आपको “Manage Web Hosting” बटन पर क्लिक करना होगा।

WordPress Par Website Kaise Banaye in Hindi Complete Guide

अब आपकी hosting cPanel खुल जाएगी, आपको अपने होस्टिंग cPanel में कई आप्शन दिखाई देगी। उनमें से 90% को उपयोग करने की आवश्यकता नहीं होगी, इसलिए आप उन्हें अनदेखा कर दें।

बस नीचे स्क्रॉल करके Software section पर जाए और “Softaculous Apps Installer” पर क्लिक करें।

WordPress Par Website Kaise Banaye in Hindi Complete Guide

अगले पेज में, WordPress सेलेक्ट करें और फिर Install Now बटन पर क्लिक करें।

WordPress Par Website Kaise Banaye in Hindi Complete Guide

अब आपके सामने एक नयी पेज खुलेगी, यहाँ आपको अपनी ब्लॉग का नाम, admin username, और अपनी ब्लॉग के लिए एक पासवर्ड दर्ज करना होगा। चिंता न करें, बाद में आप इन्हें अपनी आवश्यकता अनुसार बदल भी सकते है। यहाँ नीचे गाइड है:

WordPress Par Website Kaise Banaye in Hindi Complete Guide

अपनी ब्लॉग से जुडी सभी Information दर्ज करने के बाद Install बटन पर क्लिक करें।

WordPress installation process शुरू हो जाएगी, यहाँ आपको लगभग 1 मिनट का समय लगेगा। प्रोसेस पूरी होने के बाद, लॉगिन और पासवर्ड की जानकारी registered email address पर भेजी जाएगी।

बधाई हो! आपने WordPress पर अपना ब्लॉग बना लिया है।

Domain Nameserver Update करें


अब आपको अपनी Domain Nameserver अपडेट करनी होगी। फिर से अपनी होस्टिंग के cPanel में लॉग इन करें और “Manage Orders >> List / Search Orders” बटन पर क्लिक करें। फिर Domain name पर क्लिक करें।

WordPress Par Website Kaise Banaye in Hindi Complete Guide

और अपनी होस्टिंग सेक्शन के अंदर Name Server details पर क्लिक करें,

WordPress Par Website Kaise Banaye in Hindi Complete Guide

यह आपको दों Name Server दिखाई देंगे, बस इन्हें copy करके notepad में Save कीजिये।

WordPress Par Website Kaise Banaye in Hindi Complete Guide

अब Domain Registration सेक्शन में जाकर Name Servers पर क्लिक करें। आपके सामने एक पॉपअप बॉक्स ओपन होगी, कॉपी किये दोंनो Name Server को इस बॉक्स में पेस्ट करके Update name server बटन पर क्लिक करें।

WordPress Par Website Kaise Banaye in Hindi Complete Guide

Name Servers propagate होने में 72 घंटे का समय लेता है, एक बार जब Name Servers propagate हो जाता है और आपकी ब्लॉग ओपन होने लगती है, तो आप अपनी ब्लॉग में login और विजिट कर सकते है।

WordPress पर Blog बनाने के बाद जरूरी सेटअप


  • अपने WordPress dashboard पर लॉग इन करें और Posts >> All Posts पर जाएं और डिफ़ॉल्ट “Hello world” पोस्ट को delete कर दें।
  • ठीक पहले process की तरह, Pages >> All Pages पर जाएं और डिफ़ॉल्ट “Sample Page” को delete करें।
  • अंत में, “Comments” पर क्लिक करें और टिप्पणी को भी delete करें।

Blog का Timezone सेट करें

ब्लॉग की time zone सेट करने के लिए Settings >> General पर क्लिक करें। ब्लॉग का time zone अपने local time के अनुसार सेट करें ताकि जब आप कोई पोस्ट शेड्यूल करें, तो वे आपके time zone के अनुसार पब्लिश हों।

WordPress Permalinks structure सेट करें

वर्डप्रेस 5 तरह की Permalink structure के साथ आता है लेकिन Default Permalinks structure SEO friendly नहीं होती है। इसलिए Settings >> Permalinks पर क्लिक करें और Post Name सेलेक्ट करें और फिर Save Changes बटन पर क्लिक करें।

WordPress Par Website Kaise Banaye in Hindi Complete Guide

एक अच्छी WordPress Theme Install करें

वर्डप्रेस पर ब्लॉग बनाने के बाद यह आपको Default theme (Twenty Twenty) प्रदान करता है। यह थीम भी काफी अच्छा है लेकिन मैं आपको Recommend करूंगा आप अपने ब्लॉग पर Lightweight और Well-coding थीम का उपोयोग करें।

यहाँ मैंने एक लिस्ट तयार की है – Best SEO Friendly WordPress Themes … इस लिस्ट में मैंने Free और paid दोनों थीम को लिस्टेड किया है। आप अपनी जरूरत और बजट के अनुसार कोई भी Theme install कर सकते है।

WordPress Blog के लिए आवश्यक Plugins क्या है

वर्डप्रेस में प्लगइन Apps की तरह काम करते हैं। ये आपकी वर्डप्रेस ब्लॉग पर Extra features जोड़ने में मदद करते है जैसे कि Contact form, photo galleries, आदि। यहाँ एक गाइड है – WordPress Plugins Install Kaise Kare (3 Methods)

यहां कुछ आवश्यक प्लगइन है जो किसी भी ब्लॉग के लिए बहुत आवश्यक है:

  • Yoast SEO – आपके WordPress SEO में सुधार करता है।
  • WP Super Cache – यह एक Caching plugin है जो आपके ब्लॉग का एक static HTML files generate करता है और जब कोई विजिटर आपके ब्लॉग पर विजिट करता है, तो यह heavier WordPress PHP scripts की जगह generate की गयी static HTML files को विजिटर को serve करता है। जिससे आपकी ब्लॉग super fast load होता है।
  • Updraftplus – आपकी ब्लॉग का full backups लेता है। यहाँ एक गाइड है – Updraftplus Plugin Se WordPress Website Ka Backup Kaise Kare
  • Wordfence Security – यह एक Security Plugin है जो आपकी ब्लॉग को hacker से सिक्योर करता है।
  • Contact Form 7 – यह एक बहुत ही पोपुलर free contact form plugin है। इसकी मदद से आप अपनी ब्लॉग पर Contact form आसानी से बना कर सकते है। इसके अल्टरनेटिव आप WPForms का उपयोग कर सकते है।
  • Redirection – इसका उपयोग करके आप आसानी से अपनी ब्लॉग पर 301 redirections मैनेज कर सकते हैं, 404 errors track कर सकते है।

Inactive WordPress Themes/Plugin को Delete करें

Inactive plugins और themes आपके ब्लॉग के लिए security vulnerabilities पैदा करते हैं।

अपने सभी इंस्टॉल किए गए थीम को देखने के लिए Appearance >> Themes पर क्लिक करें। यदि आपको यहाँ कोई Inactive WordPress Themes दिखती है, तो उसे डिलीट करें। ठीक इसी तरह आप प्लगइन पेज पर भी जाकर Inactive Plugin डिलीट कर सकते है।

सबसे पहले, Appearance >> Customize >> Menus पर क्लिक करें। अपने मेनू का एक नाम दर्ज करें और Create menu button पर क्लिक करें। फिर अपनी आवश्यकता अनुसार Category या Page add करें।

WordPress Par Website Kaise Banaye in Hindi Complete Guide

अब अपने menus के लिए एक location चुने। ये स्थान आपके वर्डप्रेस थीम पर आधारित रहते है। आमतौर पर, अधिकांश थीम में एक primary menu होता है जो टॉप पर दिखाई देता है। यहाँ एक detailed गाइड है – WordPress में Menus Create कैसे करें

WordPress Blog पर Content Add कैसे करें


वर्डप्रेस दो content types के साथ आता है – Post और Page

Post – एक टाइमस्टैम्प जोड़ता है और ब्लॉग द्वारा उपयोग किया जाता है। जब आप अपनी ब्लॉग पर पोस्ट पब्लिश करते हैं, तो यह होम पेज पर दिखाई देता है। इसके अलावा, आप अपनी पोस्ट के लिए Categories और Tags चुन सकते हैं।

Page – यह Static होता है और timestamp नहीं दिखाता है। पेज के लिए, आप Categories और Tags नहीं सेलेक्ट कर सकते। यह ज्यादातर Contact page, About page, privacy policy page आदि के लिए उपयोग किया जाता है।

ब्लॉग में First Blog post publishकरते है,

सबसे पहले Posts >> Add New पर क्लिक करें। यह आपको पोस्ट एडिटर पैनल में ले जायेगा। यहाँ अपनी पोस्ट कंटेंट और टाइटल लिखें फिर Publish बटन पर क्लिक करें।

WordPress Par Website Kaise Banaye in Hindi Complete Guide

WordPress ब्लॉग पर Page कैसे क्रिएट करें

पेज भी पोस्ट की तरह ही create किया जाता है, Pages >> Add New पर क्लिक करें। यहाँ आपनी पेज टाइटल लिखें और text editor में content जोड़कर Publish बटन पर क्लिक करें।

Single Niche Blog Vs Multi Niche Blog: दोनों में कौन अच्छा है


कोई भी नया ब्लॉगर जब Blogging शुरू करता है, तो वह प्रायः सब चीजों के बारे में लिखने लगता है। क्योंकि उसे पता नहीं होता है कि Single Niche Blog और Multi Niche Blog क्या होते हैं। वह अपने अनुसार जो भी अच्छा लगता है, उसके बारे में लिखते रहता है।

Blogging शुरू करते समय अधिकतर नए Blogger ये गलती करते है क्यूंकि वे Single Niche Blog और Multi Niche Blog के फायदे और नुक्सान के बारे में नहीं जानते हैं। [Most Common Mistakes Jo Har New Blogger Karta Hai]

  • Single Niche Blog – जब कोई Blogger किसी एक खास Topic के बारे में लिखता है, तो उसे Single Niche Blog कहा जाता है। जैसे, WPBeginner । इस वेबसाइट पर केवल WordPress के बारे में कंटेंट शेयर किया जाता है।
  • Multi Niche Blog – उस Blog को कहा जाता है, जिस ब्लॉग का Topic एक से अधिक होता है। और उस Blog पर अलग – अलग Topic के बारे में पोस्ट लिखा जाता है जैसे Tech, Health & Fitness, Fashion, Travel, Makeup आदि।

अब आपको Single Niche Blog Vs Multi Niche Blog के बारे में बेहतर समझ है… और मैं आपको Single Niche पर blogging करने की सलाह दूंगा क्यूंकि:

  • Single Niche Blog भरोसेमंद होते है।
  • Multi Nice Blog के लिए Direct Advertiser मिलना मुश्किल है।
  • Multi Niche Blog पैसा कमाने के लिए अच्छे नहीं होते है।
  • सबसे जरूरी बात Multi Niche Blog, SEO Friendly नहीं होती है।
  • Multi Niche Blog को रीडर और सब्सक्राइबर मिलना मुश्किल होता है।

यहाँ एक Deatailed गाइड है – Single Niche Blog Vs Multi Niche Blog: दोनों में कौन अच्छा है और क्यों

Blogging शुरू करने के लिए Top Niches


यहाँ मैं आपको 9 ऐसे Blogging Niche के बारे में बताने वाला हूँ जिस पर आप ब्लॉग्गिंग शुरू कर सकते है:

  • Sports
  • Health & Fitness
  • Jobs
  • Technology 
  • Banking & Finance
  • Lifestyle
  • Travel 
  • Food 
  • Beauty & Fashion

SEO Friendly कंटेंट कैसे लिखें


एक अच्छी SEO friendly content आपके ब्लॉग की सर्च इंजन रैंकिंग को बहुत प्रभावित करती है और आपकी कंटेंट को गूगल के पहले पेज पर ले जा सकती है।

Keyword Research करें

Keyword research बहुत ही महत्वपूर्ण है क्योंकि कीवर्ड रिसर्च SEO की नींव (foundation) है।

यदि आप कंटेंट लिखने के दौरान keyword research नहीं करते हैं, तो आपकी कंटेंट पूरी तरह बेकार है क्यूंकि ऐसी कंटेंट सर्च इंजन में अच्छी रैंक प्राप्त नहीं कर पाती है।

अपनी कंटेंट के लिए low competition, high monthly search और कुछ रिलेटेड कीवर्ड सेलेक्ट करें।

  • Keyword research आपके ब्लॉग को जल्दी पॉपुलैरिटी प्राप्त करने में मदद करता है।
  • यदि आप keyword research करके अपनी आर्टिकल लिखते है, तो आपकी ब्लॉग टारगेट visitors प्राप्त कर पायेगी।
  • आपकी ब्लॉग रैंकिंग और ट्रैफिक को बढ़ाने में मदद करता है।
  • Keyword research से आपको अपने ब्लॉग के लिए कंटेंट लिखने का Idea (टॉपिक) मिलता है।
  • Keyword research से आपको कीवर्ड पर competition और search volume का पता चलता है।

Related Keyword उपयोग करें

सर्च इंजन आपकी आर्टिकल को समझने के लिए target keywords, related terms, keyword variations, और synonyms शब्द का उपयोग करते हैं।

अपनी कंटेंट में Target keyword से संबंधित Related keywords और longtail keyword का उपयोग करें। यह आपकी आर्टिकल को सर्च रिजल्ट में टॉप रैंक प्राप्त करने में सहायता करती है।

Title को ऑप्टिमाइज़ करें

अपने टाइटल के शुरुआत में ही टारगेट कीवर्ड डालने कि कोशिश करें। जब सर्च इंजन आपकी आर्टिकल को क्रॉल करते हैं, तो वे टाइटल टैग देखते हैं। यदि आप इसे सही तरीके से ऑप्टिमाइज़ करते हैं तो आपकी कंटेंट सर्च इंजन में अच्छी रैंक करेगी।

साथ ही टाइटल आपकी कंटेंट पर CTR बढ़ाने में अहम भूमिका निभाते हैं।

SEO Friendly URLs Create करें

हमेशा अपने ब्लॉग पोस्ट के लिए SEO friendly और short URLs का उपयोग करें। ताकि सर्च इंजन आसानी से आपके पेज टॉपिक को समझ सकें। अपने URL में टार्गेट कीवर्ड Add करें। यह आपकी कंटेंट को और भी SEO friendly बनाता है। यहाँ एक गाइड है – SEO Friendly URL Kaise Banaye

Internal Linking और External Linking करें

अपनी कंटेंट में internal linking और external linking करने का प्रयास करें।

यह आपकी कंटेंट को विजिटर के लिए और अधिक Informative बनाता है। साथ ही, सर्च इंजन क्रॉलर को पेज समझने में आसानी होती है।

Media का उपयोग करें और उसे ऑप्टिमाइज़ करें

एक इमेज 1000 शब्दों के बराबर होती है। मीडिया आपकी कंटेंट को और अधिक SEO friendly और engaging बनाने में मदद करता है।

लेकिन बुरी बात यह है कि google इमेज को नहीं पढ़ सकता है। यह इमेज के Alt tag के आधार पर इमेज को read करता है। इसलिए, अपनी इमेज में उचित Alt tag जोड़ना कभी न भूलें। यहाँ एक गाइड है – Image Optimization in Hindi

Keyword Stuffing से बचें

Keyword Stuffing आपकी आर्टिकल को spammy, unnatural और useless बनाता है। अपनी कंटेंट में keyword density 1.5% – 2% रखें।

यदि आप सोचते है कि कीवर्ड स्टफिंग से आपकी कंटेंट की रैंकिंग बूस्ट होगी, तो आप बिल्कुल गलत हैं। इससे आपकी कंटेंट की रैंकिंग और भी कम हो जाती है। यहां Google keyword stuffing के बारे में व्याख्या करता है

Content Length

गूगल long content को अधिक महत्व देता है। यदि आप अपने ब्लॉग के लिए long-form content लिखते हैं तो आपको पॉजिटिव रिजल्ट मिलेगा।

SEO Friendly Article Kaise Likhe

Content की Quality

Content is king

Quality content विजिटर और सर्च इंजन दोनों को आकर्षित करती है। लेकिन आपकी कंटेंट unique और informative होनी चाहिए।

यदि आप उपयोगी और informative ब्लॉग पोस्ट नहीं लिखते हैं, तो कोई भी आपकी ब्लॉग पर विजिट नहीं करेगा। हमेशा अपने ब्लॉग के लिए अच्छे और SEO friendly content लिखने का प्रयास करें।

Blog का SEO कैसे करें


SEO का पूरा नाम Search Engine Optimization है। इसकी मदद से, आप अपने ब्लॉग को गूगल और पोपुलर सर्च इंजन में नंबर 1 पर ला सकते हैं। SEO दो प्रकार के होते हैं :

  • on-Page SEO – कंटेंट क्वालिटी, कीवर्ड, टाइटल, टैग, कीवर्ड रिसर्च आदि को ऑप्टिमाइज़ करना on Page SEO कहलाता है।
  • off Page SEO–  इस SEO process में, लिंक बिल्डिंग और Promotions शामिल हैं। हमें अपने ब्लॉग को सोशल मीडिया साईट पर Promote करना होता है, पोपुलर ब्लॉग पर जाकर उनके आर्टिकल पर comment करना होता है।

यहाँ नीचे मैंने टॉप SEO Tips शेयर किया है जिनको फॉलो करके अपनी ब्लॉग की Ranking improve कर सकते है:

अपनी ब्लॉग पर HTTPS का उपयोग करें

गूगल HTTPS को Ranking factor के रूप में उपयोग करता है। इसके अलावा, विजिटर आपकी साइट पर Trust करते है।

कई ऐसी कई होस्टिंग कंपनियां हैं जो होस्टिंग खरीदते समय Free SSL certificate प्रदान करती हैं। यदि आपकी होस्टिंग कंपनिय फ्री में HTTPS certificate प्रदान नहीं करती है, तो आप अपने ब्लॉग पर CloudFlare free Flexible SSL Setup कर सकते है। CloudFlare Flexible SSL आपको लाइफटाइम के लिए मुफ्त https certificate प्रदान करता है।

अपने ब्लॉग को Google Search Console में Submit करें

Google Search Console गूगल द्वारा डेवलप्ड एक बहुत ही अच्छा टूल है जो आपकी ब्लॉग की Ranking Keyword, impressions, Crawl errors और भी बहुत कुछ प्रदान करता हैं। इसके अलावा, यदि आपकी ब्लॉग में कोई भी Errors होती है, तो Google Search Console आपको notify करेगा।

सबसे पहले Google Search Console में लॉग इन करें। इसके बाद टॉप में स्थित ‘Add Property’ पर क्लिक करें।

Google Search Console Overview

इसके बाद अपनी ब्लॉग का URL दर्ज करें।

Continue बटन पर क्लिक करें। अब आपको अपनी ब्लॉग Verify करनी होगी कि आप इसके मालिक है। Ownership verify करने के लिए आपको 5 मेथड दिखाई देंगे।

आप  Yoast SEO प्लगइन का उपयोग करके इसे आसानी से Verify कर सकते है। बस आपको Yoast SEO के Webmaster tools (SEO >> General >> Webmaster Tools) सेक्शन में जाकर HTML tag paste करनी होगी।

Google Search Console Overview

इसे Save करने के बाद, Google Search Console पर लौटकर ‘Verify’ बटन पर क्लिक करें। आपको एक Success संदेश मिलेगा।

इसके अलावा आप Insert Headers and Footers plugin का उपयोग कर सकते है। Settings >> Insert Headers and Footers पर क्लिक करें और अपनी HTML tag को ‘Scripts in Header‘ बॉक्स में पेस्ट करें।

Google Search Console Overview

अपनी ब्लॉग की Sitemap Google Search Console में Submit करें

Sitemap के लिए Yoast SEO >> General >> Features पर क्लिक करें और XML sitemaps को ‘On‘ करे फिर ‘See the XML Sitemap‘ लिंक पर क्लिक करें। इसके अलावा यहाँ एक गाइड है – WordPress Ke Liye XML Sitemap Kaise Banaye (4 Ways)

Sitemap ko Google Search Console me Submit kaise kare

यह आपको XML sitemap पेज पर ले जाएगा। जैसा कि आप स्क्रीनशॉट में देख सकते है।

Sitemap ko Google Search Console me Submit kaise kare

अपनी ब्राउज़र के address bar से URL को कॉपी करें। यह आपकी Sitemap होगी और कुछ इस तरह दिखेगी,

https://example.com/sitemap_index.xml

अब हमारे पास Sitemap मौजद है। चलिए इसे Google Search Console में Submit करते है।

Google Search Console डैशबोर्ड के, बाएं Column में स्थित ‘Sitemaps‘ आप्शन पर क्लिक करें फिर URL के last part (sitemap_index.xml) को पेस्ट करके Submit बटन पर क्लिक करें।

Sitemap ko Google Search Console me Submit kaise kare

आपने अपनी Sitemap को Google Search Console में सफलतापूर्वक जोड़ लिया है।

यह फ़िलहाल Pending दिखाई देगी। लेकिन कुछ समय बाद आप Sitemap में Discovered URLs की संख्या देख सकेंगे।

अपनी ब्लॉग की लोडिंग स्पीड फ़ास्ट करें

किसी भी वेबसाइट या ब्लॉग के लिए Speed महत्वपूर्ण है। यह एक Google ranking factor है। फास्ट-लोडिंग ब्लॉग SERPs में अच्छी रैंक करती हैं और बेहतर User Experience प्रदान करती है।

आप अपनी ब्लॉग की loading speed को चेक करने के लिए PageSpeed Insights, Pingdom और GT Matrix जैसे Speed checker tools का उपयोग कर सकते हैं।

WordPress Blog Ki Loading Speed Kaise Badhaye

ब्लॉग की स्पीड बेहतर करने के लिए कुछ Quick Tips:

  • Latest PHP version का उपयोग करें
  • अपनी इमेज साइज़ को ऑप्टिमाइज़ करें
  • केवल उपयोगी प्लगइन रखें
  • Remove unwanted media
  • Minify CSS and JS Files
  • एक अच्छा Cache Plugin का उपयोग करें
  • Minimize redirects
  • एक अच्छी Web hosting का उपयोग करें
  • अपनी ब्लॉग की database को ऑप्टिमाइज़ करें

अपने ब्लॉग को Mobile-Friendly बनाये

मोबाइल सर्च पूरी तरह से डेस्कटॉप खोज पर हावी हो गई है और आधी से अधिक सर्च स्मार्टफोन से की जाती हैं। इसके अलावा, Mobile-friendliness एक Google ranking factor भी है। इसलिए Mobile-Friendly वेबसाइट होना जरूरी है।

आपकी ब्लॉग mobile-friendly है या नहीं, इसे चेक करने के लिए आप Mobile-friendly testing tool का उपयोग कर सकते है। यहाँ एक गाइड है – WordPress Ko Mobile-Friendly Kaise Banaye

अपनी Robots.txt फाइल को ऑप्टिमाइज़ करें

Robots.txt file सर्च इंजन बॉट को यह समझने में सहायता करता है कि आप साइट के किस भाग को इंडेक्स करना चाहते हैं और किस भाग को नहीं। जब सर्च इंजन बॉट आपकी साइट पर आते हैं, तो वे Robots.txt फ़ाइल को फॉलो करते हैं। अतः, यदि आप Robots.txt फ़ाइल को गलत कॉन्फ़िगर करते हैं, तो यह आपकी ब्लॉग रैंकिंग को नुकसान पहुंचा सकता है।

Robots.txt file क्या है और Perfect Robots.txt file कैसे बनाये

अपने ब्लॉग के लिए High Quality Backlinks बनाये

लिंक बनाने की प्रोसेस को बैकलिंक्स कहा जाता है। यह एक बहुत पुराना Google ranking factor है। लेकिन बैकलिंक्स relevant और High ranking websites से होनी चाहिए।

Website Ke Liye High-Quality Backlinks Kaise Banaye

अपनी साइट के लिए बैकलिंक्स न खरीदें, अन्यथा, आपको Google Penalty का सामना करना पड़ सकता है क्योंकि ऐसे बैकलिंक्स में low quality और pornographic sites links भी शामिल होते हैं।

Backlinks बनाने के Quick Tips

  • Quality Content लिखें
  • दुसरे टॉप रैंकिंग ब्लॉग पर Guest पोस्ट करें
  • अपनी ब्लॉग को High quality web directories में सबमिट करें
  • टॉप रैंक वाले  ब्लॉग पर कमेंट करें
  • Discussion Platforms का उपयोग करें

Breadcrumb का उपयोग करें

गूगल कहता है,

Google Search uses breadcrumb markup in the body of a web page to categorize the information from the page in search results.

हिंदी

Google Search सर्च रिजल्ट में पेज से जानकारी को categorize करने के लिए Breadcrumb Markup का उपयोग करता है।

इसके अलावा, Breadcrumb यूजर को यह जानने में सहायता करता है कि वे आपकी साइट पर कहां हैं। एक आर्टिकल में मैंने आपको बताया था कि, WordPress Me Breadcrumbs Add kaise Kare

अपनी आर्टिकल को प्रमोट करें

आर्टिकल पब्लिश करने के बाद इसे प्रमोट करना बहुत जरूरी है। यह स्टेप off page SEO के तहत आती है। सीधे शब्दों में कहें, अपनी साइट को प्रमोट करना off-page optimization कहा जाता है।

ऐसा करने का मुख्य कारण यूजर और सर्च इंजनों का ध्यान आकर्षित करना है। यदि आप ब्लॉग पोस्ट पब्लिश करने के बाद प्रमोट करते हैं, तो यह आपके Blog traffic को बढाने में मदद करता है।

अपनी ब्लॉग की Indexing चेक करें

कभी-कभी ऐसा होता है कि गूगल आपके पेज को सही तरीके से क्रॉल नहीं कर पाता है या गूगल द्वारा Blocked हो जाता है। फलस्वरूप वह पेज गूगल में रैंक नहीं कर पाता है। आप इसे देखने के लिए Google Search Console Tool का उपयोग कर सकते हैं।

बस अपने Google Search Console में लॉग इन करें और Coverage >> Valid >> Submitted and indexed पर क्लिक करें। यहां आप अपनी साइट की Index URL देख सकते हैं।

इसके अलावा यहाँ आपको एक Indexed, not submitted in sitemap आप्शन दिखाई देगा। यह आपको बताता है कि आपकी URLs sitemap में submitted नहीं है पर फिर भी गूगल ने उन्हें index किया है।

चुकी आप देख सकते है यहाँ मेरी ब्लॉग की pagination index है जो कि SEO के लिए जरूरी है। यदि आपको यहाँ कुछ अजीब URL दिखाई देती है, तो आपकी website ranking पर बुरा प्रभाव पड़ सकता है। आप नीचे स्क्रीनशॉट में उन bad URLs को देख सकते है,

Crawl Errors को चेक करें

Crawl Errors को देखने के लिए, Coverage >> Error पर क्लिक करें।

Server error (5xx) पर क्लिक करने के बाद वे Error URL दिखाई देगी।

Broken Links को Fix करें

Broken links user experience और आपकी ब्लॉग रैंकिंग को बहुत प्रभावित करते हैं। तो जितनी जल्दी हो सके उन्हें ठीक करने की कोशिश करें। यहाँ एक गाइड है – WordPress Me Broken Link Fix Kaise Kare

URL Inspection करें

कभी-कभी गूगल आपके पेज को पूरी तरह से क्रॉल नहीं कर पता है जिसके कारण, आपकी कंटेंट गूगल सर्च रिजल्ट में बेहतर परफॉर्म नहीं कर पाती है।

इसे फिक्स करने के लिए,  Google Search Console में लॉग इन करें और URL Inspection आप्शन पर क्लिक करें। और फिर REQUEST INDEXING पर क्लिक करें।

Blogging से पैसा कैसे कमाये


ब्लॉग्गिंग से पैसे कैसे कमाने के बारे मैं आपको कुछ genuine तरीके बताने वाला हूँ। ये तरीके थोडा समय तो लेते है लेकिन कार्य अवश्य करते है। इनमें से कई को शुरू करने के लिए कुछ पैसे Invest करने की आवश्यकता पडती है।

Affiliate Marketing द्वारा पैसे कमाना

जब विजिटर आपके लिंक द्वारा प्रोडक्ट को खरीदते है, तो आपको रेफरल कमीशन के रूप में कुछ रूपये प्राप्त होते है। कई ऐसी वेबसाइट है जो अपने प्रोडक्ट के लिए Affiliate programs का उपयोग करती हैं जिनमें आप शामिल हो सकते हैं।

Affiliate Marketing in Hindi (70+ Affiliate Programs)

Affiliate marketing पैसे कमाने का सबसे आसान तरीका है क्योंकि आप विभिन्न प्रकार के प्रोडक्ट को प्रोमोट कर सकते हैं।

अपनी ब्लॉग पर Google AdSense Ads लगाकर

ब्लॉग या वेबसाइट से पैसा बनाने के लिए Google Adsense एक बहुत ही आसान और पोपुलर तरीका है। आपको केवल अपनी ब्लॉग पर Google Ads लगाने की ज़रूरत है।

जब यूजर आपके ads पर क्लिक करेंगे, तो आपको पैसे मिलेंगे। लेकिन यदि आप खुद अपनी ads पर क्लिक करते है या किसी दुसरे से क्लिक करवाते है, तो Google Adsense आपके अकाउंट को suspend कर देगा।

यदि आपकी ब्लॉग ट्रैफिक बहुत अधिक है, तो Google Adsense पैसा कमाने का सबसे अच्छा तरीका हो सकता है। Blogging Se Paise Kamane Ke Liye Best Ad Networks

अपनी ब्लॉग पर Ad Space Sell करें

आप अपनी ब्लॉग की ad space कंपनी को बेच सकते है जो sponsor के लिए अलग अलग ब्लॉग ढूंढते है। आप प्रत्येक Space के लिए एक अलग अलग प्राइस सेट कर सकते हैं। उदाहरण के लिए – Sidebar banner ads के लिए $400 per month

यदि आपकी ब्लॉग ट्रैफिक बहुत है, तो आप अपनी इच्छा अनुसार price सेट कर सकते है और अच्छा पैसा कमा सकते है। लेकिन यदि आपकी ब्लॉग ट्रैफिक बहुत कम है, तो आप इस तरीके से अधिक पैसे कमाने की आशा न रखें।

कुछ ब्लॉगर अपने विजिटर को Ads प्रदर्शित करने में दिलचस्पी नहीं रखते हैं। और वे Sponsored Posts और Articles के माध्यम से अपने ब्लॉग द्वारा अच्छा पैसा कमाते है।

जब कोई कंपनी अपने Product को Sponsor करने को कहती है, तो आप उन्हें इसके लिए Pay करने को कह सकते है।

Reviews लिखकर पैसा कमा सकते है

Sponsored posts के समान, आप अपनी साइट पर Paid reviews लिखकर पैसा कमा सकते हैं। आप अपनी ब्लॉग पर उन products का review करें जो आपके niche से relevant हो और विजिटर को जिसमें रुचि हो।

आप Paid reviews के लिए खुद कंपनियों से संपर्क कर सकते हैं। बहुत सी वेबसाइटें हैं जो paid review पर आपको पैसे देती है।

Website बनाये बेचें औए पैसा कमाए

अगर आप जानते हैं कि वर्डप्रेस वेबसाइट या ब्लॉग कैसे बनायीं जाती है, तो आप आसानी से पैसा कमा सकते है। कई ऐसे लोगो है जो बनी हुयी साईट खरीदना चाहते है। अतः आप ऐसे लोगो को आसानी से अपनी वेबसाइट Sell कर सकते है। वेबसाइट बेचने के लिए आप Flippa वेबसाइटों का उपयोग कर सकते है।

अपनी ब्लॉग पर Ebooks बेचें

आप अपने बेहतरीन Articles का Ebooks बनाकर अपनी ब्लॉग पर बेच सकते है। आप Canva वेबसाइट का उपयोग करके अपनी Ebooks के लिए cover डिज़ाइन कर सकते हैं।

Online Courses बेचें

Online course बेचना blogging द्वारा पैसा कमाना एक और शानदार तरीका है। आप अपनी expertise के लिए प्रीमियम चार्ज कर सकते हैं।

अपने ब्लॉग पर Graphics (Images) बेचें

यदि आपको कोडिंग से अधिक डिजाइन पसंद है, तो आप graphics design करके अपनी ब्लॉग पर बेच सकते है। आप stock images, logos और graphics बना सकते हैं और उन्हें अपनी ब्लॉग पर बेच सकते हैं। इसके अलावा आप अपने graphics दूसरे websites पर भी बेच सकते हैं।

Best Mobile Blogging Apps जो हर ब्लॉगर के पास होना चाहिए


Mobile blogging apps की कमी है। इसलिए यहां मैंने Bloggers के लिए best mobile blogging apps को लिस्टेड किया हैं जो ब्लॉगिंग में मदद कर सकते हैं।

WordPress

यदि आप एक self-hosted WordPress.org प्लेटफ़ॉर्म पर हैं और Jetpack प्लगइन का उपयोग करते हैं तो WordPress मोबाइल ऐप आपको कई आवश्यक कार्य करने की अनुमति देता है जैसे कि ब्लॉग पोस्ट creating, editing और publishing करना, कमेंट को मॉडरेट करना, analytics data चेक करना आदि।

Google Docs

आप कंटेंट create, edit और दुसरो के साथ शेयर करने के लिए Google Docs का उपयोग कर सकते हैं। Docs आपको अनुमति देता है:

  • आप नए documents बना या मौजूदा फ़ाइलों को एडिट कर सकते है।
  • आप ईमेल के माध्यम documents को दुसरो के साथ शेयर कर सकते है।
  • आप जैसे ही कुछ भी टाइप करते हैं, सब कुछ अपने आप Save हो जाता है।
  • आप अपने documents को अन्य डिवाइस से भी access कर सकते है।

Google Analytics

Google Analytics गूगल द्वारा बनाया गया है। यह आपकी ब्लॉग ट्रैफिक को ट्रैक और रिपोर्ट करता है (टॉप परफोर्मिंग पेज, total users, sessions, bounce rate, यूजर कहां से आ रहे हैं, कितने नए यूजरऔर returning user हैं, यूजर को क्या पढ़ना पसंद है आदि)

Canva

यदि आप भी आकर्षक चित्र बनाना चाहते हैं (ब्लॉग पोस्ट के लिए featured image), तो आपके लिए Canva सही image editing tool है। आप अपने लैपटॉप का उपयोग किए बिना अपने ब्लॉग के लिए शानदार इमेज बना सकते हैं।

Buffer

Buffer ब्लॉगर्स और मार्केटर्स के लिए एक बेहद उपयोगी सोशल मीडिया मैनेजिंग ऐप है। यह आपको विभिन्न सोशल नेटवर्क साइटों (Instagram, Facebook, Twitter, Pinterest और LinkedIn) पर अपनी कंटेंट पब्लिश करने की अनुमति देता है।

Pocket

यदि आप एक ब्लॉगर हैं और आर्टिकल लिखते समय बहुत अधिक रिसर्च करते हैं … तो आप जो रिसर्च करते हैं उसे भूलना आसान है। इसलिए यदि आपको अपने आर्टिकल के लिए कुछ महत्वपूर्ण लगता है, तो आप बाद में पढ़ने के लिए Pocket app का उपयोग कर सकते हैं ताकि आप बाद में (ऑफ़लाइन भी) पढ़ सकें।

Quora

Quora एक question and answer website है जहां यूजर द्वारा प्रश्न पूछे जाते हैं और उनका उत्तर दिया जाता है। इससे आपको अपने ब्लॉग पर ट्रैफ़िक लाने, अपने audience को बढ़ने और अन्य यूजर के साथ जुड़ने में मदद मिलती है।

Pixabay

Free photos, illustrations, vector graphics और हजारों मुफ्त वीडियो क्लिप के लिए आप Pixabay का उपयोग कर सकते हैं। आपको उन्हें किसी भी प्रकार की attribution देने कि जरूरत नहीं पड़ेगी।

LastPass Password Manager

LastPass सिक्योर रूप से आपके पासवर्ड को secure vault में स्टोर करता है। आपको बस अपने LastPass master password को याद रखना है, और LastPass लॉगिन को autofill करेगा। तो, यह हर ब्लॉगर के लिए सबसे आवश्यक Mobile blogging apps में से एक है।

आशा है इस पोस्ट ने blogging के बारे में पूरी जानकारी हिंदी में देने में मदद की… छोटा सा निवेदन, अगर यह आर्टिकल आपके लिए मददगार साबित हुई है, तो इसे शेयर करना न भूलें!

इसे भी पढ़ें:


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *